वो बहत्तर घंटे सुनो, पता है तुम्हें देखने के लिए मैंने कितना इंतज़ार किया? नहीं, कैसे पता होगा तुम्हें लेकिन हाँ, अब ये जान गया कि कुछ लोगों के साथ हर लम्हे जीते हैं हम हर पल, हर सांस पर...