Month: April 2018

इमली का पेड़

थियेटर से बाहर निकलकर शिवम और राहुल अँधेरे में हॉस्टल की तरफ तेज़ी से कदम बढ़ा रहे थे, तब तक शिवम की घड़ी का काँटा दौड़कर ग्यारह के भी आगे निकल चुका था। उस बस्ती के कुछ ही घर थे जो...

चलो खुशियाँ समेट लें….

चलो ऐसी दुनिया में जहाँ खुशियाँ हो ढेर सारी और सुख ही सुख। क्या ऐसी दुनिया केवल मन की कोरी कल्पना है या हकीकत। वास्तव में सब कुछ पा लेना, दुनिया में सभी के लिए संभव नहीं है किन्तु हमारी इच्छाएं,...

MILLENNIUM NIGHTS

Millennium Nights (Hindi Version) मिलेनियम नाइट्स टाइम मशीन की तरह नवोदय कैंपस में ले जाकर खड़ा कर देती है जहाँ राहुल, शिवम सौरभ, मोहित और विवेक सीनियर्स के बीच संघर्ष कर रहे हैं। वे परिस्थिति भाँपकर हर कुख्यात सीनियर से प्रतिशोध...